अमित साध ने बयां किया अपना दर्द, बोले-सुशांत सिंह राजपूत की तरह हो गया था जिंदगी से निराश, फिर…

हाइलाइट्स

सुशांत सिंह राजपूत और तुनिषा शर्मा के दर्द पर बोले अमित साध.
कहा-जिंदगी में अपनों का साथ होना बेहद जरूरी.

मुंबई. मनोरंजन की दुनिया की चकाचौंध के बीच उस वक्त काला सच सामने आता है, जब कोई सितारा मौत को गले लगाता है. हाल ही टीवी एक्ट्रेस तुनिषा शर्मा (Tunisha Sharma) के सुसाइड केस ने एक बार फिर पर्दे के पीछे के दर्द पर बहस छेड़ दी है. 2020 में जब बॉलीवुड के प्रतिभाशाली एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ने मौत को गले लगाया था, तो वह सभी के लिए शॉकिंग था. सुशांत के साथ काम कर चुके अमित साध Amit Sadh अब भी दोस्त को याद कर भावुक हो जाते हैं. हाल ही एक इंटरव्यू में अमित साध ने बताया कि वे खुद भी उस दौर से गुजर चुके हैं, जब उनके मन में भी सुसाइड का विचार आता था.

अमित साध और सुशांत सिंह ने फिल्म ‘काई पो छे’ में साथ काम किया था. तब ही से दोनों के बीच अच्छी दोस्ती हो गई थी. सुशांत सिंह और तुनिषा शर्मा के केस को लेकर हाल ही अमित ने ई टाइम्स से बातचीत की. इस दौरान उन्होंने कहा कि ऐसे दौर में दोस्तों और परिवार का सपोर्ट बहुत जरूरी हो जाता है.

खुशकिस्मत हूं कि…
अमित साध ने अपने डार्क फेस को लेकर खुलकर बातचीत की. उनका कहना था, ‘लोगों को बेहतर बनना होगा. हमें दयालु बनने की जरूरत है. मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरी जिंदगी में अच्छे लोग हैं. जब मैं परेशानी भरे पलों से गुजर रहा था तो मेरे पास ऐसे लोग थे, जिन्होंने मुझसे बात की. कुछ दिनों बाद में बेहतर महसूस करने लगा. सभी के पास माता पिता, दादा दादी या फिर दोस्त होते हैं. लेकिन मनोरंजन की दुनिया में कलाकारों का ज्यादातर समय अकेले या साथियों के बीच गुजरता है. हमें कई घंटों तक काम करना होता है. ऐसे में परिवार से ज्यादा सेट के साथियों के साथ ज्यादा समय बिताते हैं.’

(PC: Twitter@ErosNow)

जब जिंदगी में दुख आता है तो…
अमित साध का आगे कहना था कि मनोरंजन की दुनिया के लोगों को ज्यादा विनम्र होना चाहिए. उनके अनुसार, ‘हम जिंदगी का बहुत सा समय क्रू और टीम के साथ बिताते हैं. ऐसे में हमें ज्यादा विनम्र होना चाहिए ताकि सभी से कनेक्शन बना रहे. इससे हम बुरे दौर से आसानी से निकल जाते हैं. अगर हम किसी को निराश करेंगे, दुखी करेंगे तो वह और दुख में घिरता चला जाएगा. जब इंसान की जिंदगी में दुख आता है तो उसका दिमाग खराब हो जाता है. ऐसे में वह गलत बातों के बारे में सोचने लगत है. यह सब मैंने खुद अनुभव किया है.’

Tags: Actor Sushant Singh Rajput, Amit Sadh

Source Link

Read in Hindi >>