मुंबई: पटाखा फोड़ने पर विवाद, 3 नाबालिगों ने 21 साल के युवक को चाकुओं से गोदा

दिवाली के मौके पर मुंबई के शिवाजी नगर में पटाखे फोड़ने पर विवाद इतना बढ़ गया कि 3 नाबालिगों ने 21 वर्षीय युवक को मौत के घाट उतार दिया. शिवाजी पुलिस थाने के पास 3 नाबालिग लड़कों ने लात-घूंसे और चाकू मारकर हत्या कर दी, मृतक का नाम सुनील शंकर नायडू है. मामला सोमवार दोपहर करीब 2 बजे बिल्डिंग नंबर 15 B, नटवर पारेख कंपाउंड का है, जहां पटाखा फोड़ने को लेकर विवाद हुआ.

पुलिस के मुताबिक, दोपहर 12 साल का लड़का कांच की बोतल में पटाखा फोड़ रहा था, जिसे सुनील नायडू ने मना किया और वहां से भगा दिया, जिसके बाद 12 साल का नाबालिग लड़का अपने एक 15 साल के भाई और 14 साल के दोस्त को लेकर आया और सुनील नायडू से मारपीट करने लगा.

तीनों ने मिलकर पहले लात-घूंसे से खूब मारा, इसके बाद उस पर चाकू से वार करके गंभीर रूप से घायल कर दिया गया. इसके बाद स्थानीय लोगों और पुलिस की मदद से घायल सुनील को राजावाड़ी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गई. इस मामले में शिवाजी पुलिस ने दो नाबालिग लड़कों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है, जबकि तीसरे बच्चे की तलाश जारी है.

मृतक सुनील नायडू के शव को राजावाड़ी अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. कांच की बोतल में पटाखा फोड़ने वाले 12 वर्षीय लड़के का नाम आकाश मंडल है. आकाश के भाई का नाम विकास मंडल (15) है और 14 साल के दोस्त के दोस्त का नाम विकास शिंदे है. इन तीनों ने सुनील नायडू को पहले पहले लात-घूंसों से मारा, फिर गले पर चाकू से वार किया.

 

Source Link

Read in Hindi >>