UPI से पेमेंट लेने वाले रहें सावधान, ठग इस तरह लगा रहे हैं आपको चपत

How to Avoid UPI Payment Fraud : अगर आप फोनपे (PhonePe), पेटीएम (Paytm), गूगलपे (Google Pay), एमेजॉनपे (Amazon Pay) जैसे यूपीआई ऐप से पेमेंट लेते हैं तो आपको अलर्ट होने की जरूरत है. खासकर के तब जब आप मर्चेंट यानी कोई सर्विस प्रोवाइडर या दुकानदार हों. दरअसल, ठग एक नए ट्रिक से लोगों को चूना लगा रहे हैं. ठगी के इस नए ट्रिक को पेमेंट स्पूफ (Payment Spoof) कहते हैं. यह तरीका इतना शार्प है कि आपको पता भी नहीं चलता कि आप ठगे जा रहे हैं. आज हम आपको बताएंगे कि क्या है पेमेंट स्पूफ और आप इससे कैसे बच सकते हैं.

पेमेंट स्पूफ को समझें

पेमेंट स्पूफ पेमेंट के नाम पर एक धोखा है, जो लगता तो हूबबू सक्सेसफुल ट्रांजेक्शन जैसा है, लेकिन ऐसा हुआ नहीं होता. यानी ये किसी भी नामी पेमेंट ऐप (Payment App) के सक्सेसफुल ट्रांजेक्शन वाले पेज की तरह एक नकली पेज बना देता है. इससे सामने वाले को लगता है कि पेमेंट (Payment) हो गई है. यही स्पूफ का खेल है.

कैसे होता है फर्जीवाड़ा

इस फर्जीवाड़े (Fraud) को ऐप से किया जाता है. गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) पर ऐसे कई फेक पेमेंट ऐप (Fake Payment App) मौजूद हैं. ठग इन ऐप का इस्तेमाल ही लोगों को चूना लगाने के लिए करते हैं. मान इन्हीं में से एक ऐप है फेक पे (Fake Pay). जब आप इस ऐप को ओपन करेंगे तो आपके सामने एके पेज खुलेगा, जहां कई ऑप्शन होते हैं. ठग पहले ऑप्शन Go to Fake Pay पर क्लिक करते हैं. इसके बाद उनके सामने जो पेज खुलता है उसमें कुछ डिटेल डालनी होती हैं. जैसे कि नाम, यहां उस मर्चेंट का नाम लिख देते हैं जिसे पे करना है. इसके बाद उसका फोन नंबर लिखते हैं. फिर वो अमाउंट जिसका भुगतान करना है. इसके बाद डेट और टाइम का ऑप्शन होता है, जिससे जरूरत के हिसाब से एडजस्ट किया जाता है. सबसे लास्ट वाला ऑप्शन होता है यॉर वॉलेट बैलेंस. इसमें आप जो टाइप करते हैं वही क्लोजिंग बैलेंस दिखता है. इसे इस तरह एडिट किया जाता है ताकि किसी को शक न हो. इसके बाद ठग सब्मिट पर क्लिक करते हैं. इसे करते ही आपके सामने हूबबू असली यूपीआई ऐप पर ट्रांजेक्शन सक्सेस का जो पेज खुलता है वही खुल जाता है. ठग इसे दिखाकर चंपत हो जाते हैं.

इस तरह बचें ऐसे फर्जीवाड़े से

आप कुछ सावधानी बरतें तो इस तरह की ठगी से बच सकते हैं. हम बता रहे हैं आपको कुछ टेक्निक, जिनका इस्तेमाल आपको करना चाहिए.

  • अगर आप मर्चेंट हैं तो पेमेंट के लिए अब स्पीकर डिवाइस लें. इससे कोई भी पेमेंट होने पर उसमें बोलता है कि आपको किस ने और कितना पेमेंट किया है.
  • अगर स्पिकर डिवाइस नहीं ले सकते तो फोन में ही पेमेंट कन्फर्मेशन वाला ऑडियो ऑन रखें. इसमें कोई भी पेमेंट मिलने पर फोन में ऑडियो मैसेज आता है.
  • अगर ऊपर बताए किसी ऑप्शन को नहीं कर सकते हैं तो कम से कम कई भी व्यक्ति ट्रांजेक्शन का पेज दिखाता है तो उसे क्रॉसचेक करें.
  • क्रॉसचेक करने के लिए अपने यूपीआई ऐप पर जाकर देखें कि ऐसा कोई पेमेंट क्रेडिट हुआ है या नहीं.
  • इस तरह की ठगी हो तो फऱौरन पुलिस को शिकायत दें.

ये भी पढ़ें

Rog Phone 5S: गेमिंग के दीवानों के लिए आ गया एक और नया फोन, 18GB रैम के साथ जानिए कितना पावरफुल हैं

WhatsApp Android यूजर्स के लिए ला रहा नया फीचर, आसान बना देगा चैटिंग

Source Link

Read in Hindi >>